गौ रक्षक, धर्म रक्षक, राष्ट्र रक्षक, किसानों का रक्षक एवं स्वदेशी वस्तु, विचार, सभ्यता और संस्कृति का पोषक, साथ ही भारत स्वाभिमान आन्दोलन के तीन प्रमुख मुद्दे कालाधन, भ्रष्टाचार व व्यवस्था परिवर्तन के मुद्दों पर जो प्रमाणिकता से कार्य करने के लिये सहमत होगा वही साहसी, चरित्रवान, देशभक्त, व्यक्ति इस देश का अगला प्रधानमंत्री बनेगा।