योग से शक्ति, ज्ञान से मुक्ति, प्रेम से भक्ति व सेवा से शक्ति मिलती है। सेवा से शक्ति मिलने का अर्थ है कि जब हम सेवा करते हैं तो हमारे पवित्रा संकल्प को पूर्ण करने को पूर्ण करने के लिए समाज व राष्ट्र हमारे साथ खड़ा हो जाता है।