उद्योग माँ भारती के विकास के ऐसे मन्दिर हैं जहाँ कर्मचारी रूपी पुजारी अपने कर्म (काम) पुरुषार्थ रूपी पूजा से माँ भारती की वन्दना करते हैं और देश को समृद्ध व शक्तिशाली बनाते हैं।