जब तक दम में दम है, व्यक्ति को बेदम नहीं होना चाहिए। दृढ़ता व पवित्रता के साथ ध्येय की ओर आगे बढ़ते रहना चाहिए आपको एक दिन सपफलता अवश्य मिलेगी।