सुस्वास्थ्य, सद्ज्ञान, सदभाव, सद्कर्म, सुसंस्कार, सदाचार, सात्विक समृधि एवं योग पूर्वक उद्योग ये आठ हमारी सच्ची दौलत है |