जीवन में एक बात भी वेदों  की, शास्त्र की, गुरुओ की ऋषियों की  ठीक से समझ ले उसी से उद्धार हो सकता है| तेरा जन्म भगवान के लिए हुआ है, भगवान की प्राप्ति कैसे होगा कर्म कर, पुरुषार्थ कर, मेहनत कर| कर्महीन को धरती पर कुछ नहीं मिलता है, सिवाय दरिद्रता के, सिवाय दुःख के, सिवाय रोग के, सिवाय अंधेरे के इसलिए कर्म कर, लेकिन वो ज्ञान पूर्वक कर्म कर|