योग सेवा-सबसे बड़ा पुण्य, इस धरती पर सबसे पुण्य है वो योग सेवा का है | गौ-शाला बनाना-चलाना, अस्पताल बनाना-चलाना, विद्यालय बनाना-चलाना, किसी प्यासे को पानी पिलाना, भूखे को अन्न दे देना, निर्वस्त्र को वस्त्र दे देना, किसी मरीज को दवाई दे देना, किसी को जीवन में उभारना ये पुण्य के काम है | लेकिन योग के द्वारा नर को नारायण बनाना, नर में नारायण प्रकट करना ये सबसे बड़ा पुण्य है |