“योग” का अनुष्ठान समस्त उद्वेगों को निरस्त कर मन को सम्बल प्रदान करता है, योगाभ्यास संकल्पशक्ति में आश्चर्यजनक अभिवृद्धि कर देता है, जिसके फलःस्वरूप जीवन में संतुलन और आनंद का स्वाभाविक संचार होने लगता है |