योग एक श्रेष्ठ जीवन पद्धति के साथ-साथ एक श्रेष्ठ चिकित्सा पद्धति भी है, क्योंकि योग में व्याधियों का मात्रा नियन्त्राण नहीं निराकरण है, योग दुष्प्रभाव शून्य एवं सौ प्रतिशत लाभ देने वाला स्वास्थ्य के स्वावलम्बन का दर्शन है।