योग अज्ञान से ज्ञान, जड़ चेतन व जीव से ब्रह्म, प्रत्यक्ष से परोक्ष और शान्त से अनन्त की आध्यात्मिक यात्रा है।