नवीनतम प्रविष्टियां | पृष्ठ 2

Archive

पवित्र विचार

जिन पवित्र विचारों ने मुझे ऊँचा उठाया, मेरा आत्मविश्वास बढ़ाया व अग्निपथ पर आगे बढ़ाया, मैं आश्वस्त हूँ कि उन्हीं पवित्र विचारों से मेरे देश का प्रत्येक व्यक्ति जागेगा व देश का स्वाभिमान जगेगा।

० टिप्पणी
आगे पढ़ें
divider

संशय नहीं करना चाहिए

बल का दुरुपयोग, ज्ञान का अनादर तथा विश्वास में संशय नहीं करना चाहिए। जीवन में संशय कम्प्यूटर के वायरस की तरह होता है।

० टिप्पणी
आगे पढ़ें
divider

संस्कारों की नींव

विचारवान् व संस्कारवान्

विचारवान् व संस्कारवान् ही अमीर व महान् है तथा विचारहीन व संस्कारहीन ही कंगाल, दरिद्र व बदनाम है।

० टिप्पणी
आगे पढ़ें
divider

मेरे जीवन के आदर्श

बच्चों जैसी निर्मलता व निर्भयता, जवानों जैसा जोश, प्रौढ़ जैसा होश व संन्यासी जैसा समर्पण-ये मेरे जीवन के आदर्श हैं।

० टिप्पणी
आगे पढ़ें
divider

अच्छे साधक

जगत् कल्याण के लिए सुधारक बनने से पहले एक अच्छे साधक बनना। साधक बन जाओगे तो सुधर तो स्वतः ही घटित होगा।

० टिप्पणी
आगे पढ़ें
divider
पिछला पृष्ठ | अगला पृष्ठ