नवीनतम प्रविष्टियां | पृष्ठ 2

Archive

उद्योग विकास के मन्दिर

उद्योग माँ भारती के विकास के ऐसे मन्दिर हैं जहाँ कर्मचारी रूपी पुजारी अपने कर्म (काम)  पुरुषार्थ रूपी पूजा से माँ भारती की वन्दना करते हैं और देश को समृर्द्ध  व शक्तिशाली बनाते हैं।

० टिप्पणी
आगे पढ़ें
divider

प्रेम उपासना है

प्रेम, वासना नहीं उपासना है। वासना का उत्कर्ष प्रेम की हत्या है प्रेम समर्पण एवं विश्वास की पराकाष्ठा है। प्रेम, करुणा एवं वात्सल्य हमारा स्वधर्म है।

० टिप्पणी
आगे पढ़ें
divider

विचार सबसे बड़ी शक्ति

विचार सबसे बड़ी शक्ति व सम्पत्ति है। विचार विश्व की सबसे बड़ी ताकत है। विचार में अपरिमित बल व ऊर्जा है।

० टिप्पणी
आगे पढ़ें
divider

योग की शक्ति

योग न केवल आपकी शारीरिक बीमारियों को ठीक करता है बल्कि आपकी मानसिक बीमारियों को भी ठीक करता है

० टिप्पणी
आगे पढ़ें
divider

अन्याय व अपराध का विरोध अवश्य करे

यदि तुम अन्याय व अपराध का विरोध नहीं करते हो तो समझ लो कि तुम स्वयं भी अन्याय, अधर्म  व शोषण के समर्थक हो।

० टिप्पणी
आगे पढ़ें
divider

समय ही सम्पत्ति

समय ही सम्पत्ति है जो समय का सम्मान नहीं करता तथा समय के साथ नहीं चलता उसको समय कभी माफ नहीं करता।

० टिप्पणी
आगे पढ़ें
divider
पिछला पृष्ठ | अगला पृष्ठ